तस्करों की कोशिश नाकाम, बीएसएफ ने आईसीपी पेट्रापोल पर 2 को किया गिरफ्तार

0
373

जिला–उत्तर 24 परगना: अलग-अलग घटनाओं में दक्षिण बंगाल फ्रंटियर, सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने 24 अगस्त, 2021 को अलग अलग घटनाओं में 02 तस्करों को विभिन्न प्रकार की दवाइयों तथा मोबाइल फोन के साथ बांग्लादेशी तस्करो को अवैध तरीके से अंतरराष्ट्रीय सीमा पार करते समय गिरफ्तार किया। जब्त दवाइयों तथा मोबाइल फोन की अनुमानित कीमत 4,19,275/- रुपए हैं। इन सभी दवाइयों तथा मोबाइल फोन को उत्तर 24 परगना जिले के आईसीपी पेट्रापोल क्षेत्र से तस्करी के माध्यम से बांग्लादेश ले जाने का प्रयास था।

पहली घटना में, 24 अगस्त, 2021 को दैनिक रूटीन ड्यूटी के दौरान बीएसएफ आईसीपी पेट्रापोल, पर 179 वीं वाहिनी के जवान निर्यात का माल लेकर बांग्लादेश जाने वाले वाहनों की सुरक्षा जांच कर रहे थे। इसी दौरान लगभग 1140 बजे सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने एक संदिग्ध ट्रक (WB 73 D 9447) को भारत से बांग्लादेश की ओर आते देखा जो निर्यात का माल (गेंहू) लेकर भारत से बांग्लादेश की तरफ जा रहा था। जब जवानों ने सुरक्षा जांच के दौरान बारीकी से ट्रक की तलाशी ली तो इसके कैबिन के अंदर डैश बोर्ड से 03 नई मोबाइल फोन बरामद हुए। जिसे ट्रक चालक बिना किसी दस्तावेज के अवैध तरीके से तस्करी के उदेश्य से बांग्लादेश ले जा रहा था। जवानों ने ऊक्त मोबाईल फोन को ट्रक सहित जब्त कर लिया तथा ट्रक चालक (तस्कर) को भी हिरासत में ले लिया पकड़े गए ट्रक चालक (तस्कर) की पहचान बक्कर अली मंडल , उम्र- 26 वर्ष, गांव- मेदियाहाट, थाना – गोपालनगर, जिला – उत्तर 24 परगना, पश्चिम बंगाल के रूप में हुई है।

पूछताछ के दौरान पकड़े गये तस्कर बक्कर अली मंडल ने बताया कि वह एक भारतीय नागरिक है तथा वर्तमान में स्थाई रूप से गोपाल नगर (पश्चिम बंगाल) में रहता है। आगे उसने बताया कि वह ट्रक चालक के रूप में कार्य करता है और नियमित तौर पर निर्यात का माल लेकर बांग्लादेश जाता रहता है। 24 अगस्त को जब वह निर्यात का माल (गेंहू) लेकर बांग्लादेश जाने के लिए पेट्रापोल पार्किग से ट्रक लेकर आ रहा था उसी दौरान रात्री 1100 बजे जैदुल अली मंडल नाम के व्यक्ति ने उसे ये मोबाइल फ़ोन दिया था जिसे बांग्लादेश ले जाना था। उसने यह भी बताया था कि इन मोबाइल फोन को आईसीपी बेनापोल (बांग्लादेश) पहुँचने पर किताबुल मंडल नाम के बांग्लादेशी व्यक्ति को देना है। लेकिन आईसीपी (अंतर्राष्ट्रीय सीमा) पार करने से पहले ही बीएसएफ ने उसे वाहन चेकिंग के दौरान मोबाईल फोन के साथ पकड़ लिया।

दूसरी घटना में, उसी दिन 24 अगस्त, 2021 बीएसएफ की ख़ुफ़िया विभाग की सूचना पर कार्य करते हुए आईसीपी पेट्रापोल,179 वाहिनी, सेक्टर कोलकाता के जवानों ने आईसीपी पेट्रापोल के पार्किंग एरिया में तलाशी अभियान चलाया लगभग 1600 बजे सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने एक संदिग्ध ट्रक (NL 01 L 8287 ) देखा। शीघ्र ही कॉम्पनी कमांडर ने कस्टम ऑफिस को घटना के बारे में जानकारी दी तथा कस्टम बिभाग के अधिकारी की उपस्थिति में बीएसएफ के जवानों ने ट्रक की तलाशी ली तो निर्यात माल के साथ प्लास्टिक में लपेटा हुए 04 पैकेट दवाईयां छुपा कर रखी गई थी जिसे अवैध तरीके से बांग्लादेश ले जाना था। जवानों ने सभी दवाइयां को जब्त कर लिया तथा साथ ही ट्रक चालक (तस्कर) को भी हिरासत में ले लिया। पकड़े गए तस्कर की पहचान प्रशांता बिस्वास, उम्र- 37 वर्ष, सुभाष पल्ली, बनगाँव, जिला- उत्तर 24 परगना के रुप मे हुई है ।

पूछताछ के दौरान पकड़े गए तस्कर प्रशांता बिस्वास ने बताया कि वह एक भारतीय नागरिक है जो स्थायी रूप से बनगाँव में रहता है। आगे उसने बताया कि वह ट्रक चालक के रूप में कार्य करता है और नियमित तौर पर निर्यात का माल लेकर बांग्लादेश जाता रहता है। 22 अगस्त को जब वह निर्यात का माल (कॉटन) लेकर बांग्लादेश जाने के लिए पेट्रापोल पहुंचा तथा उसने ट्रक को पार्किग एरिया खड़ा किया, उसी दौरान रात्री 1000 बजे बनगाँव निवासी बँटी नाम के व्यक्ति ने उसे ये दवाइयाँ दिया था जिसे बांग्लादेश ले जाना था। उसने यह भी बताया था कि इन सभी दवाइयाँ को आईसीपी बेनापोल (बांग्लादेश) पहुँचने पर स्लिम कास्मेटिक शॉप को देना है। लेकिन आईसीपी (अंतर्राष्ट्रीय सीमा) पार करने से पहले ही बीएसएफ ने उसे वाहन चेकिंग के दौरान दवाइयाँ के साथ पकड़ लिया।

गिरफ्तार दोनों तस्कर को तथा जब्त की गई सामग्री को आगे की कानूनी कार्यवाही के लिए संबंधित कस्टम कार्यालय तथा पुलिस स्टेशन को सौंप दिया गया है |

179 बटालियन के कमांडिंग ऑफिसर ने कस्टम से की इस बारे में बात

अरूण कुमार, 179 वी वाहिनी के कमांडिंग ऑफिसर ने आईसीपी पेट्रापोल पर आयात और निर्यात वाहन तथा यात्रियों के व्यक्तिगत समान के आड़ में होने वाले तस्करी को रोकने के लिए कस्टम अधिकारियों से बातचीत की है, जिससे की सामान की आड़ में किसी भी प्रकार की तस्करी न हो पाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here